Tokyo Olympics 2020 is The most Gender Balanced Olympic Games in the 125 year history of Modern Olympics | Tokyo Olympics 2020 में करीब 49 फीसदी महिला खिलाड़ियों ने लिया हिस्सा, बनाया ये रिकार्ड


टोक्यो: जापान में चल रहा टोक्यो ओलंपिक 2020 (Tokyo Olympics 2020), आधुनिक ओलंपिक गेम्स के 125 साल के इतिहास का सबसे जेंडर बैलेंस्ड (Gender Balanced) ओलंपिक गेम रहा. जिसमें महिलाओं की भागीदारी लगभग 49 प्रतिशत (48.84 फीसदी) रही. टोक्यो ओलंपिक 2020 में दुनियाभर के कुल 11 हजार 90 खिलाड़ियों ने भाग लिया है. जिसमें 5 हजार 704 पुरुष और 5 हजार 386 महिला खिलाड़ी हैं.

टोक्यो ओलंपिक में बना रिकॉर्ड

ओलंपिक के इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ कि ओलंपिक के सभी सदस्य देशों ने अपने देश की कम से कम 1 महिला खिलाड़ी को ओलंपिक में खेलने के लिए भेजा है. इतना ही नहीं दुनिया के कुछ देश ऐसे भी थे जिनकी टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympics) टीम में महिला खिलाड़ियों की संख्या पुरुष खिलाड़ियों से ज्यादा थी.

इन देशों की महिला खिलाड़ी पुरुषों से रहीं आगे

ऑस्ट्रेलिया के कुल 480 खिलाड़ियों ने टोक्यो ओलंपिक में हिस्सा लिया था. जिसमें 257 महिलाएं और 223 पुरुष थे. इसी तरह ब्रिटेन के कुल 376 खिलाड़ियों में 200 महिलाएं और 176 पुरुष थे. कनाडा के 381 खिलाड़ियों ने ओलंपिक में भाग लिया था. जिसमें 233 महिलाएं और 148 पुरुष थे.

ये भी पढ़ें- यकीन करना मुश्किल! इस राज्य में है सोने का सबसे बड़ा भंडार, फिर भी है ‘गरीब’

बता दें कि पदक तालिका में पहले स्थान पर रहने वाले चीन के कुल 406 खिलाड़ियों ने टोक्यो ओलंपिक 2020 में भाग लिया था, जिसमें 281 महिलाएं थी और 125 पुरुष थे. भारत की बात करें तो टोक्यो ओलंपिक में भारत के कुल 126 खिलाड़ियों ने भाग लिया था, जिसमें 71 पुरुष और 55 महिला खिलाड़ी थीं.

ओलंपिक गेम्स में महिलाओं के भाग लेने पर थी पाबंदी

साल 1896 में जब आधुनिक ओलंपिक खेलों की शुरुआत हुई थी तब ओलंपिक खेलों में महिलाओं के भाग लेने पर पाबंदी लगा दी गई थी क्योंकि आधुनिक ओलंपिक खेलों के संस्थापक Pierre Baron de Coubertin को लगता था कि ओलंपिक खेलों में अगर महिलाएं भाग लेंगी तो ओलंपिक गेम अव्यवहारिक, गैर दिलचस्प, अनैच्छिक और अनुचित हो जाएंगे.

ओलंपिक गेम्स में महिलाओं को पहली बार खेलने की अनुमति साल 1900 के पेरिस ओलंपिक में मिली थी. जहां 22 महिला खिलाड़ियों ने ओलंपिक गेम्स में भाग लिया था.

ये भी पढ़ें- पाकिस्तान में मंदिर तोड़ने वालों पर कार्रवाई, 50 अरेस्ट; 150 से ज्यादा पर केस दर्ज

साल 2024 में आयोजित होने वाला पेरिस ओलंपिक पहला ऐसा ओलंपिक होगा जहां महिलाएं और पुरुष खिलाड़ियों की संख्या बराबर होगी. पेरिस ओलंपिक 2024 में कुल 10 हजार 500 खिलाड़ियों का Athelete Quota होगा. जिसमें 5 हजार 250 महिलाएं और 5 हजार 250 पुरुष भाग लेंगे.

टोक्यो ओलंपिक में रिकॉर्ड संख्या में महिला खिलाड़ियों की भागीदारी पर संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने टोक्यो ओलंपिक को इसिहास में जेंडर बैलेंस के लिए मील का पत्थर बताया है. एंटोनियो गुटेरेस ने ट्वीट किया कि Tokyo ओलंपिक 2020 में लगभग 49 फीसदी एथलीट महिलाएं हैं, जो इस Olympics को इतिहास में सबसे ज्यादा जेंडर बैलेंस्ड खेल और खेल में जेंडर बैलेंस के लिए एक मील का पत्थर बनाती हैं. आइए हम सभी उन सभी प्रेरणादायक महिला खिलाड़ियों का समर्थन करें जो जेंडर स्टीरियोटाइप को धता बता कर, समानता का प्रदर्शन कर रही हैं.

1896 से 2020 तक ओलंपिक गेम्स में महिलाओं की भागीदारी

1896 : 0 फीसदी
1900 : 2.2 फीसदी
1904 : 0.9 फीसदी
1908 : 1.8 फीसदी 
1912 : 2 फीसदी
1920 : 2.4 फीसदी
1924 :4.4 फीसदी
1928 : 9.6 फीसदी
1932 : 9 फीसदी
1936 : 8.3 फीसदी
1948 :9.5 फीसदी
1952 : 10.5 फीसदी
1956 : 13.3 फीसदी
1960 : 11.4 फीसदी
1964 : 13.2 फीसदी
1968 : 14.2 फीसदी
1972 : 14.6 फीसदी
1976 : 20.7 फीसदी
1980 : 21.5 फीसदी
1984 : 23  फीसदी
1988 : 26.1 फीसदी
1992 : 28.8 फीसदी
1996 : 34  फीसदी
2000 : 38.2 फीसदी
2004 : 40.7 फीसदी
2008 : 42.4 फीसदी
2012 : 44.2 फीसदी
2016 : 45 फीसदी
2020 : 48.8 फीसदी

LIVE TV





Source link

Leave a Comment