PM Narendra Modi address in UNGA 76th Session New York Latest Update । UNGA से पाकिस्तान पर प्रहार, प्रधानमंत्री मोदी बोले- कुछ लोग आतंकवाद को सियासी हथियार बना रहे


न्यूयॉर्क: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) को संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने पाकिस्तान और चीन का नाम लिए बिना आतंकवाद और विस्तारवाद पर जोरदार वार किया. उन्होंने कहा, जो देश आतंकवाद का इस्तेमाल कर रहे हैं, उनके लिए भी खतरा है. पीएम मोदी ने UNGA से दो टूक कहा कि अफगानिस्तान की धरती का इस्तेमाल आतंकवाद को बढ़ाने के लिए न किया जाए. 

100 साल की सबसे बड़ी महामारी से सामना

संयुक्त राष्ट्र महासभा के 76 वें सत्र (UNGA 76th Session) के संबोधन की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अब्दुल्ला शाहिद को अध्यक्ष पद संभालने के लिए बधाई देते हुए की. UNGA में पीएम मोदी ने कहा, गत डेढ़ वर्ष से पूरा विश्व, 100 साल में आई सबसे बड़ी महामारी का सामना कर रहा है. ऐसी भयंकर महामारी में जीवन गंवाने वाले सभी लोगों को मैं श्रद्धांजलि देता हूं और परिवारों के साथ अपनी संवेदनाएं व्यक्त करता हूं. 

लोकतंत्र की हमारी हजारों वर्षों की महान परंपरा

पीएम मोदी ने कहा, मैं उस देश का प्रतिनिधित्व कर रहा हूं जिसे मदर ऑफ डेमोक्रेसी का गौरव हासिल है. लोकतंत्र की हमारी हजारों वर्षों की महान परंपरा रही है. इस 15 अगस्त को भारत ने अपनी आजादी के 75वें साल में प्रवेश किया. हमारी विविधता, हमारे सशक्त लोकतंत्र की पहचान है. एक ऐसा देश जिसमें दर्जनों भाषाएं हैं, सैकड़ों बोलियां हैं, अलग-अलग रहन सहन, खान-पान है. ये वाइब्रेंट डेमोक्रेसी का उदाहरण है.

दुनिया भर के वैक्सीन मैन्युफैक्चरर को न्योता

पीएम मोदी ने कहा, भारत का वैक्सीन डिलीवरी प्लेटफॉर्म CoWIN एक ही दिन में करोड़ों वैक्सीन डोज लगाने के लिए डिजिटल सहायता दे रहा है. मैं UNGA को ये जानकारी देना चाहता हूं कि भारत ने दुनिया की पहली DNA वैक्सीन विकसित कर ली है जिसे 12 साल से ज्यादा उम्र के सभी लोगों को लगाया जा सकता है. भारत के वैज्ञानिक एक नेजल वैक्सीन के निर्माण में भी लगे हैं. मानवता के प्रति अपने दायित्व को समझते हुए भारत ने एक बार फिर दुनिया के जरूरतमंदों को वैक्सीन देनी शुरू कर दी है. उन्होंने कहा, मैं आज दुनिया भर के वैक्सीन मैन्युफैक्चरर को भी आमंत्रित करता हूं कि आइए और भारत में वैक्सीन बनाइए.

आतंकवाद पर जोरदार निशाना

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, प्रतिगामी सोच के साथ, जो देश आतंकवाद का राजनीतिक उपकरण के रूप में इस्तेमाल कर रहे हैं, उन्हें ये समझना होगा कि आतंकवाद, उनके लिए भी उतना ही बड़ा खतरा है. ये सुनिश्चित किया जाना बहुत जरूरी है कि अफगानिस्तान की धरती का इस्तेमाल आतंकवाद फैलाने और आतंकी हमलों के लिए न हो. हमें इस बात के लिए भी सतर्क रहना होगा वहां कि नाजुक स्थितियों का इस्तेमाल कोई देश अपने स्वार्थ के लिए एक टूल की तरह इस्तेमाल करने की कोशिश न करे.

 

 

ओसियन रिसोर्सेज को हम यूज करें अब्यूज नहीं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संयुक्त राष्ट्र महासभा के 76 वें सत्र को संबोधित करते हुए कहा, हमारे समुद्र भी हमारी साझी विरासत है इसलिए हमें ये ध्यान रखना होगा कि ओसियन रिसोर्सेज को हम यूज करें अब्यूज नहीं. हमारे समुद्र अंतरराष्ट्रीय व्यापार की लाइफलाइन भी हैं. इन्हें हमें एक्सपैंशन और एक्सक्लूजन की दौड़ से बचाकर रखना होगा. साथ ही उन्होंने कहा, संयुक्त राष्ट्र को स्वयं को प्रासंगिक बनाए रखना है तो उसे अपनी इफेक्टिवनेस को सुधारना होगा, रिलायबिलिटी को बढ़ाना होगा. UN पर आज कई तरह के सवाल खड़े हो रहे हैं. 

यह भी पढ़ें: PM मोदी की गिफ्ट चॉइस है बेहद अलग, विश्‍व नेताओं को दिए ये खास उपहार

 जब भारत बढ़ता है तो दुनिया बढ़ती है

पीएम मोदी ने कहा, दुनिया में हर छठवां आदमी भारतीय है, इसलिए जब भारत बढ़ता है तो दुनिया बढ़ती है. जब भारत सुधार करता है तो दुनिया में बदलाव आता है. भारत तमाम परिवर्तनकारी विकास कार्यक्रमों के माध्यम से, वैश्विक विकास में योगदान दे रहा है और यह सुनिश्चित कर रहा है कि ‘कोई भी पीछे न रहे’. उन्होंने कहा, भारत तकनीकी इनोवेशन के जरिए दुनिया की मदद कर रहा है, चाहे वह UPI के माध्यम से फाइनेंशियल इनक्लूजन हो या CoWIN के माध्यम से कोरोना के खिलाफ लड़ाई में टीकाकरण अभियान में सुधार करना हो.

दीनदयाल उपाध्याय और टैगोर को किया याद

प्रधामंत्री मोदी ने UN की मंच से पंडित दीनदयाल उपाध्याय को याद करते हुए कहा, एकात्म मानववाद और अंत्योदय का संदेश देने वाले पंडित दीनदयाल उपाध्याय की आज जयंती है. साथ ही नोबेल पुरस्कार विजेता रवींद्रनाथ टैगोर के कथन के जरिए बिना किसी डर के अपने रास्ते पर बढ़ने और सभी कमजोरियां और आशंकाओं को दूर करने का संदेश दिया.

यूएन में PM मोदी के अब तक के संबोधन

बता दें कि साल 2014 में पीएम नरेंद्र मोदी ने संयुक्त राष्ट्र महासभा में 33 मिनट 45 सेकंड का संबोधन किया था. वहीं साल 2015 में प्रधानमंत्री मोदी ने 19 मिनट 13 सेकंड तक भाषण दिया था. साल 2019 में पीएम मोदी ने 16 मिनट 38 सेकंड तक संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित किया था. साल 2020 में प्रधानमंत्री मोदी ने संयुक्त राष्ट्र महासभा में 21 मिनट तक वर्चुअल माध्यम से भाषण दिया था.

LIVE TV





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *