Khandwa Lok Sabha by election Independent mla surendra singh shera claims Arun Yadav will not Congress ticket mpap | टिकट की लड़ाई! सुरेंद्र सिंह शेरा का का बड़ा दावा, अरुण यादव के लिए दिल्ली अभी दूर


भोपालः मध्य प्रदेश की खंडवा लोकसभा सीट पर होने वाले उपचुनाव को लेकर सरगर्मियां तेज है. कांग्रेस की तरफ से टिकिट को लेकर घमासान तेज हो गया है. एक तरफ कांग्रेस के सीनियर नेता अरुण यादव दावेदारी कर रहे हैं तो दूसरी तरफ निर्दलीय विधायक सुरेंद्र सिंह शेरा अपनी पत्नी के लिए टिकिट की मांग कर रहे हैं. इस बीच सुरेंद्र सिंह शेरा ने बड़ा दावा किया है कि खंडवा से अरुण यादव को टिकिट नहीं मिलेगा. 

शेरा ने टिकिट के लिए भरा दम 
दरअसल, बुराहनपुर से निर्दलीय विधायक सुरेंद्र सिंह शेरा ने खंडवा लोकसभा उपचुनाव में अपनी पत्नी की दावेदारी ठोकते हुए कांग्रेस से टिकिट मिलने दम भरा है. विधानसभा सत्र में शामिल होने के बाद जब शेरा ने कहा कि ”अगर चुनाव के लिए सही सर्वे हुआ था तो उनकी पत्नी को ही टिकिट मिलेगा. शेरा ने कहा वह आज कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ से मुलाकात करेंगे और टिकिट को लेकर चर्चा करेंगे. निर्दलीय विधायक ने कहा कि वह अपनी पत्नी को कांग्रेस की तरफ से टिकिट दिए जाने के लिए कांग्रेस के दूसरे सीनियर विधायकों से भी टिकिट के लिए समर्थन मांगेंगे.”

अरुण यादव को नहीं मिलेगा टिकिटः सुरेंद्र सिंह शेरा 
इस बीच सुरेंद्र सिंह शेरा ने बड़ा दावा करते हुए कहा कि खंडवा लोकसभा उपचुनाव में कांग्रेस की तरफ से अरुण यादव को टिकिट नहीं मिलेगा. उन्होंने कहा कि ”इस बार अरुण यादव को टिकिट नहीं मिलेगा बल्कि उनकी पत्नी को टिकिट मिलेगा. सुरेंद्र सिंह शेरा ने कहा कि खंडवा सीट पर इस बार महिला उम्मीदवार को ही टिकिट दिया जाना चाहिए. शेरा ने कहा कि सर्वे में उनकी पत्नी जयश्री ठाकुर जीत की प्रबल दावेदार है. इसलिए इस बार कांग्रेस की तरफ से पत्नी को टिकिट मिलना चाहिए. सुरेंद्र सिंह शेरा ने कहा कि लोकतंत्र में सभी को चुनाव लड़ने का अधिकार है. इसलिए वह इस बार अपनी पत्नी जयश्री के लिए टिकिट की मांग कर रहे हैं.”

अरुण यादव की वरिष्ठ नेताओं से चल रही मुलाकात 
सुरेंद्र सिंह शेरा के दावे से इतर कांग्रेस नेता अरुण यादव भी अपनी तैयारियों में जुटे हैं. अरुण यादव की आज भोपाल में कांग्रेस के बड़े नेताओं से मुलाकात चल रही है. अरुण यादव ने कांग्रेस के राष्टीय अनुसूचित जाति अध्यक्ष नितिन राउत, एमपी कांग्रेस एससी वर्ग के प्रभारी राजकुमार कटारिया से बंद कमरे में चर्चा की है. इसके अलावा अरुण यादव के आवास पर खंडवा लोकसभा क्षेत्र के अनुसूचित जाति के नेता भी पहुंचे हैं. 

दिल्ली पहुंचे थे अरुण यादव और सुरेंद्र सिंह शेरा 
वहीं पिछले दिनों अरुण यादव और सुरेंद्र सिंह शेरा दिल्ली भी पहुंचे थे. जहां शेरा ने दिल्ली में कमलनाथ सहित अन्य नेताओं से मुलाकात की थी. जबकि अरुण यादव ने भी दिल्ली में टिकिट को लेकर कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात की थी. 

शेरा ने पत्नी के लिए मांगा टिकिट 
बुरहानपुर से निर्दलीय विधायक सुरेंद्र सिंह शेरा ने खंडवा से अपनी पत्नी के लिए दावेदारी ठोक कांग्रेस की मुश्किलें बढ़ा दी हैं. भले ही सुरेंद्र सिंह शेरा निर्दलीय विधायक है. लेकिन वह तत्कालीन कमलनाथ सरकार को समर्थन देते रहे हैं. इसकी वजह से उन्हें तत्कालीन सरकार में मंत्री बनाने का भी भरोसा मिला था. शेरा ने अपनी दावेदारी से कांग्रेस के लिए मुश्किलें खड़ी कर दी हैं. शेरा ने कहा कि सर्वे में उनकी पत्नी के पक्ष में जिताऊ रिपोर्ट आएगी. 2019 के लोकसभा चुनाव में भी सुरेंद्र सिंह शेरा ने पत्नी जयश्री को निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर चुनाव में उतार दिया था. हालांकि बाद में कमलनाथ के कहने पर उन्होंने पत्नी को चुनाव से वापस कर दिया था. लेकिन अब वह फिर कांग्रेस की तरफ से टिकिट की मांग कर रहे हैं.

खंडवा सीट पर बीजेपी-कांग्रेस में हो सकता है कड़ा मुकाबला 
दिवंगत सांसद नंदकुमार सिंह चौहान के निधन के बाद से खंडवा लोकसभा सीट पर भाजपा के पास मजबूत विकल्प का अभाव है. वहीं अरुण यादव खंडवा सीट पर तैयारियों में जुटे हैं वह यहां से सांसद भी रह चुके हैं. अरुण यादव केंद्र में मंत्री भी रहे और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के पद की जिम्मेदारी भी साढ़े चार साल तक निभाई. ऐसे में इस सीट पर बीजेपी और कांग्रेस में कड़े मुकाबले की उम्मीद जताई जा रही है. 

ये भी पढ़ेंः डेढ़ साल बाद इस नेता ने खोला बड़ा राज, बताया क्यों कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में हुए थे शामिल

WATCH LIVE TV





Source link

Leave a Comment