James Anderson said Lords Cricket Ground is super lucky for him, took 5 Wicket haul 7 times in Career | James Anderson के लिए बेहद लकी है Lord’s Ground, यहां इतनी बार चटकाए 5 विकेट


लंदन: इंग्लैंड (England) के सीनियर तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन (James Anderson) ने भारत के खिलाफ दूसरे टेस्ट के दौरान लॉर्ड्स (Lord’s) मैदान में 7वीं बार पारी में 5 या इससे ज्यादा विकेट चटकाने के बाद कहा कि वह इस ऐतिहासिक मैदान पर अपना बेस्ट प्रदर्शन करते हैं.

लॉर्ड्स में किया था डेब्यू

लॉर्ड्स क्रिकेट ग्राउंड (Lord’s Cricket Ground) में 18 साल पहले जिंबाब्वे (Zimbabwe) के खिलाफ 5 विकेट के साथ टेस्ट डेब्यू करने वाले जेम्स एंडरसन (James Anderson) ने करियर में 31वीं बार पारी में 5 या इससे ज्यादा विकेट हासिल किए.
 

यह भी पढ़ें- 5 साल बाद हुई इंग्लिश टीम में वापसी, लेकिन सिराज इस बल्लेबाज को दिया तगड़ा झटका
 

लॉर्ड्स मैदान है लकी

अपना 164वां टेस्ट खेल रहे जेम्स एंडरसन (James Anderson) ने दूसरे दिन का खेल खत्म होने के बाद प्रेस कांफ्रेंस में कहा, ‘लार्ड्स को लेकर कुछ खास है, निश्चित तौर पर मेरे लिए ऐसा है. मुझे यहां खेलना पसंद है. ऐसा लगता है कि यहां मैं अपना सबसे बेहतरीन प्रदर्शन करता हूं.’
 

एंडरसन ने ढाया कहर

टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करते हुए इंग्लैंड को आसमान में बादल छाए होने के बावजूद पहले विकेट के लिए 44वें ओवर तक इंतजार करना पड़ा. पहले दिन एंडरसन ने रोहित शर्मा (83) को आउट करके इंग्लैंड को पहली सफलता दिलाई और फिर चेतेश्वर पुजारा (9) को भी पवेलियन भेजा.

5 विकेट लेने में माहिर

दूसरे दिन एंडरसन ने अजिंक्य रहाणे (1), इशांत शर्मा (8) और जसप्रीत बुमराह (0) की पारियों का अंत किया जिससे पहले दिन के खेल के बाद तीन विकेट पर 276 रन बनाने वाला भारत 364 रन पर आउट हो गया. एंडरसन ने लार्ड्स पर भारत के खिलाफ चौथी बार पारी में पांच या इससे अधिक विकेट चटकाए.
 

39 की उम्र में भी जलवा बरकरार

वह 1951 से लार्ड्स पर पारी में पांच या इससे अधिक विकेट चटकाने वाले सबसे अधिक उम्र के तेज गेंदबाज हैं. एंडरसन 39 बरस के हो गए हैं लेकिन इस अनुभवी तेज गेंदबाज ने उम्मीद जताई कि उन्हें अपने ‘पसंदीदा स्थल’ पर दोबारा खेलने का मौका मिलेगा.

आखिरी बार नहीं खेल रहे जेम्स

जेम्स ने कहा, ‘पिछले कुछ मौकों पर मैं जब भी यहां खेला तो आप लोगों ने सोचा होगा कि क्या मैं आखिरी बार यहां खेल रहा हूं? उम्मीद करता हूं कि यहां मैं आखिरी बार नहीं खेला या यहां के ऑनर्स बोर्ड पर आखिरी बार अपना नाम नहीं लिखवाया.’





Source link

Leave a Comment