IPL 2021: These youngsters perform well in the ipl can become the part of Indian national team |IPL 2021 से भारत को मिले ये 3 खतरनाक खिलाड़ी, लगातार सेलेक्टर्स के दरवाजे पर दे रहे दस्तक


नई दिल्ली: आईपीएल भारतीय खिलाड़ियों को एक ऐसा मंच प्रदान करता है जहां युवा अच्छा प्रदर्शन करके भारतीय टीम में जगह बना सकते हैं. आईपीएल युवाओं के लिए वो दरवाजा है जिसमें घुसकर वो भारतीय टीम में जगह बना सकते हैं. इससे पहले भी श्रेयस अय्यर, ऋषभ पंत, शुभमन गिल और युजवेंद्र चहल जैसे युवाओं ने आईपीएल में अच्छा प्रदर्शन कर भारतीय टीम में जगह बनाई. इस साल भी आईपीएल में भारतीय युवाओं ने हर विभाग में अच्छा प्रदर्शन किया हैं, चाहें वो बल्लेबाजी हो, गेंदबाजी हो या फील्डिंग. इस सीजन से कई ऐसे खिलाड़ी भारत को मिले जो आने वाले समय में बड़ा कमाल कर सकते हैं.  

ऋतुराज गायकवाड़

आईपीएल 2021 ऋतुराज गायकवाड़ ने ऐसी बल्लेबाजी की जिसे देखकर विपक्षी टीम के गेंदबाज बहुत ही घबराते थे. धोनी जैसे सेनापति की निगरानी में गायकवाड़ ने सीएसके को फाइनल जितवाया. उन्होंने 16 मैचों में 45.35 की औसत और 136.26 की स्ट्राइक रेट से 635 रन बनाए और वो ऑरेंज कैप के हकदार भी बने. इस दौरान उन्होंने अपने करियर का पहला आईपीएल शतक भी लगाया. इसके अलावा वो इमर्जिंग प्लेयर ऑफ द ईयर भी बने. इस युवा में खिलाड़ी में एक बेहतरीन ओपनर बनने के सारे लक्षण दिखते हैं. वे आने वाले समय में रोहित शर्मा की जगह ले सकते हैं. अभी उनकी उम्र 26 साल ही है. 

वेंकटेश अय्यर  

ये खिलाड़ी आईपीएल 2021 के बीच में आया और सिर्फ 10 मैच खेलकर अपने प्रदर्शन से केकेआर को फाइनल में ले गया. अय्यर अभी 26 साल के ही हैं. भारतीय टीम को इस खिलाड़ी के रूप में एक बेहतरीन ऑलराउंडर मिल गया है. जो आतिशी बल्लेबाजी के साथ-साथ खतरनाक गेंदबाजी भी कर सकता है. वो लंबे शॉट्स खेलने के अलावा विकेट टेकर भी हैं. स्पिन गेंदों को अय्यर बेहतरीन तरीके से खेलते हैं. ये रवींद्र जडेजा और हार्दिक पांडया की जगह ले सकते हैं. 

हर्षल पटेल 

आईपीएल 2021 यूएई में हुआ जहां की पिचों पर तेज गेंदबाजों को ज्यादा मदद नहीं मिलती है फिर भी इस तेज गेंदबाज ने अपनी काबिलियत के दम बड़े बड़े बल्लेबाजों के विकेट चटकाए. ये बड़े लीग के सबसे बड़े विकेट टेकर बेंगलोर के इस गेंदबाज का नाम है हर्षल पटेल. मौजूदा आईपीएल में इस गेंदबाज ने 32 विकेट लेकर प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट का खिताब भी मिला. ये विकेट के दोनों ओर स्विंग कराते हैं. इन्होंने ज्यादातर विकेट धीमी गेंदों पर बल्लेबाज को चकमा देकर लिए हैं. 

   





Source link

Leave a Comment