IPL 2021: Sunil Narayan said taking Virat Kohli’s wicket was his target in Eliminator match against RCB |IPL 2021: मैच के बाद भी RCB के जख्मों को कुरेद रहा उनका बड़ा ‘दुश्मन’, Virat Kohli को किया और परेशान


नई दिल्ली: आईपीएल 2021 के एलीमिनेटर मैच में विराट कोहली की कप्तानी वाली आरसीबी को केकेआर ने 4 विकेट से मात दी. इस हार के साथ ही इस साल भी आरसीबी का आईपीएल खिताब जीतने का सपना एक बार फिर से टूट गया है. इस मैच में आरसीबी के ऊपर केकेआर के दिग्गज स्पिन गेंदबाज सुनील नारायण कहर बनकर टूटे. लेकिन आरसीबी को हराने के बाद नारायण ने एक बात कहकर विराट के जख्मों पर नमक छिड़क दिया. 

नारायण ने छिड़का नमक  

रॉयल चेलेंजर्स बैंगलोर (आरसीबी) के खिलाफ जीत में अहम भूमिका निभाने वाले कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) के ऑलराउंडर सुनील नारायण ने कहा है कि उन्होंने आरसीबी के कप्तान विराट कोहली के विकेट लेने का आनंद लिया. नारायण ने कोहली के अलावा ग्लेन मैक्सवेल, एबी डिविलियर्स और श्रीकर भरत के विकेट भी चटकाए और दो बार की विजेता टीम को चार विकेट से जीत दिलाने में योगदान दिया. नारायण ने कहा, ‘मैंने सभी विकेट का आनंद लिया लेकिन कोहली का विकेट लेना मेरा लक्ष्य था. 

उन्होंने कहा, ‘मैं पहली गेंद से तैयार रहता हूं. किसी दिन यह अच्छे से नहीं हो पाता है. आप प्रदर्शन करें और टीम जीते तो यह अच्छा होता है.’ केकेआर के कप्तान इयोन मॉर्गन ने भी नारायण के बल्लेबाजी की सराहना करते हुए कहा, ‘अगर हम अपने बल्लेबाजी क्रम की बात करें तो इसमें मजबूती है. नारायण कूल कस्टमर हैं.’

कोहली के लिए दुश्मन बना ये खिलाड़ी

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (RCB) का इस हार के साथ ही IPL चैंपियन बनाने का सपना टूट गया. इस मैच में कोलकाता नाइट राइडर्स (KKR) के स्पिनर सुनील नारायण कोहली के लिए सबसे बड़े दुश्मन साबित हुए. नारायण ने गेंद और बल्ले से बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (RCB) को हार के गर्त में धकेल दिया. कोलकाता नाइट राइडर्स (KKR) की टीम दूसरे क्वालीफायर में दिल्ली कैपिटल्स से भिड़ेगी, जिसे पहले क्वालीफायर में चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा था.

टूट गया कोहली का सपना 

इसी के साथ एक बार फिर से विराट कोहली का आईपीएस ट्रॉफी जीतने का सपना टूट गया है. विराट पिछले 13 सालों से इस एक ट्रॉफी को जीतने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन हर बार उनके हाथ हार ही लगी है. इस टीम ने 3 बार को फाइनल तक का भी सफर तय किया है, लेकिन हर बार दूसरी टीम ने आरसीबी को मात देकर ट्रॉफी उठाई है.

 

 





Source link

Leave a Comment