IPL 2021: Rohit Sharma tells the reason why his team did not perform well in this season |IPL 2021: 5 बार की चैंपियन Mumbai Indians इस साल क्यों हुई फेल? कप्तान रोहित शर्मा ने खुद किया खुलासा


नई दिल्ली: आईपीएल 2021 अब अपने आखिरी चरण में पहुंच चुका है. इस टूर्नामेंट के प्लेऑफ में सीएसके, दिल्ली कैपिटल्स, आरसीबी और केकेआर की टीम पहुंची है, लेकिन हैरानी की बात ये रही कि पांच बार की विजेता मुंबई इंडियंस की टीम अंतिम चार तक भी नहीं पहुंच पाई. अब मुंबई के कप्तान रोहित शर्मा ने टीम के प्रदर्शन को लेकर एक बड़ी बात कही है. 

रोहित ने बताई नाकामी की वजह  

मुंबई इंडियंस के कप्तान रोहित शर्मा ने इंडियन प्रीमियर लीग में शुक्रवार को यहां सनराइजर्स हैदराबाद पर 42 रन की जीत के बावजूद प्लेऑफ में जगह बनाने में नाकाम रहने के बाद कहा कि उनकी टीम दूसरे चरण में सामूहिक रूप से विफल रही. मुंबई के 236 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए हैदराबाद की टीम आठ विकेट पर 193 रन ही बना सकी. 

रोहित ने मैच के बाद कहा, ‘हमने जो हासिल किया उस पर हमें गर्व है. दिल्ली में हम मैच जीतने के बाद लय में आ रहे थे लेकिन इसके बाद ब्रेक (कोविड-19 मामलों के कारण) हो गया. यहां आने के बाद हम टीम के रूप में सामूहिक रूप से विफल रहे. आज जीत दर्ज करने की खुशी है. हमने सब कुछ झोंक दिया और मुझे यकीन है कि प्रशंसकों के लिए भी यह मनोरंजक रहा.’

टीम के प्लेऑफ में जगह बनाने में नाकाम रहने पर रोहित ने कहा, ‘जब आप मुंबई जैसी फ्रेंचाइजी के लिए खेलते हो तो आपसे हमेशा अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद की जाती है. मैं इसे दबाव नहीं कहूंगा, यह उम्मीदें हैं.’

हैदराबाद को 65 से नीचे करना था ऑलआउट

मुंबई को प्लेऑफ के लिए क्वालीफाई करने के लिए सनराइजर्स को 65 रन के स्कोर से कम पर रोकना था. सनराइजर्स की टीम आठ टीमों की तालिका में 6 अंक के साथ अंतिम स्थान पर रही. सनराइजर्स की ओर से मनीष पांडे (41 गेंद में नाबाद 69, सात चौके, दो छक्के), जेसन रॉय (34) और अभिषेक शर्मा (33) ने उपयोगी पारियां खेली. मुंबई की ओर से जेम्स नीशम ने 28, जसप्रीत बुमराह ने 39 और नाथन कोल्टर नाइल ने 40 रन देकर दो-दो विकेट चटकाए. ईशान ने 32 गेंद में 84 जबकि सूर्यकुमार ने 40 गेंद में 82 रन बनाए जिससे मुंबई ने नौ विकेट पर 235 रन बनाए जो टीम का आईपीएल इतिहास का सर्वोच्च स्कोर है. यह आईपीएल 2021 का भी सर्वोच्च स्कोर है.

मनीष पांडे थे हैदराबाद के कप्तान

केन विलियमसन के चोटिल होने के कारण टीम की कमान संभाल रहे मनीष पांडे ने कहा कि उनके तेज गेंदबाजों ने अधिक रन लुटा दिए. पांडे ने कहा, ‘जिन पिचों पर हम खेले उनमें ये टूर्नामेंट का सर्वश्रेष्ठ विकेट था. हमें पता था कि मुंबई सब कुछ झोंक देगा और उन्होंने ऐसा किया. मुझे लगता है कि हम बेहतर गेंदबाजी कर सकते थे. हमारे तेज गेंदबाजों ने कुछ अतिरिक्त रन दिए जिनका खामियाजा अंत में हमें भुगतना पड़ा.’ सनराइजर्स की टीम अंक तालिका में छह अंक के साथ अंतिम स्थान पर रही और पांडे ने कहा कि वे टीम के रूप में अच्छा प्रदर्शन करने में नाकाम रहे.

उन्होंने कहा, ‘हम सिर्फ तीन मैच जीत पाए. हमारी टीम में काफी बदलाव हुए लेकिन कोई भी संयोजन काम नहीं कर पाया. हमें जूझना पड़ा, चेन्नई में शुरुआती मैचों में भी. हमने दूसरे हाफ में बेहतर करने का प्रयास किया लेकिन दुर्भाग्य से ऐसा नहीं कर पाए. व्यक्तिगत रूप से कुछ खिलाड़ियों ने अच्छा प्रदर्शन किया लेकिन एक टीम के रूप में अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाए.’

 

 





Source link

Leave a Comment