CSK को चैम्पियन बनाएंगे ये 5 पांडव! फाइनल में KKR की कर देंगे बुरी हालत| Hindi News


दुबई: ये नौवां मौका होगा जब चेन्नई की टीम IPL का फाइनल खेलेगी. पहले क्वालीफायर में दिल्ली को आखिरी ओवर में धोनी ने अपने धुंआधार अंदाज में बल्लेबाजी कर बाहर का रास्ता दिखाया था. ये धोनी का 10वां IPL फाइनल है. चेन्नई की टीम में अनुभव की कोई भी कमी नहीं है. टीम संयोजित है और फाइनल में टीम अपने रंग में होगी. IPL शुरू होने से पहले चेन्नई को बूढ़ों की फौज कहा गया था, लेकिन इसके उलट इस टीम ने धमाकेदार खेल दिखाया. चेन्नई ने युवा संयोजन का रथ बनाया और उस रथ के अनुभव रूपी घोड़े पर धोनी जैसा सारथी टीम को फाइनल तक ले गया. चेन्नई की टीम ने दिखाया कि क्लास ही टिकाऊ होती है और फॉर्म आती जाती रहती है.

महेंद्र सिंह धोनी

ये वो नाम है, जिसके बिना CSK की टीम अधूरी है. बड़े मैचों का इन्हें अपार अनुभव है. बड़े बड़े मैच इन्होंने अपने शांत और शातिर दिमाग से जितवाए हैं. धोनी का हाथ वो पारस का पत्थर है, जिस भी खिलाड़ी को ये छू लेते हैं, तो वो सोना हो जाता है. 40 साल की उम्र होने के बावजूद विकेट के पीछे उनकी चपलता देखते ही बनती है. दिल्ली के खिलाफ 6 गेंद में 18 रन बनाकर वो अपने पुराने फिनिशिंग टच में लौट आए हैं. जब धोनी अपने रंग में होते हैं, तो वे वक्त आने पर किसी भी गेंदबाज की बखिया उधेड़ सकते हैं. धोनी IPL में सबसे ज्यादा मैचों में कप्तानी करने वाले और कप्तान के तौर पर मैच जीतने वाले खिलाड़ी हैं. धोनी टीम में बदलाव के लिए नहीं जाने जाते हैं. टीम संयोजन बनाने में धोनी का कोई भी सानी नहीं है. DRS लेने में उनसे बड़ा कोई महारथी नहीं है.

ऋतुराज गायकवाड़

चेन्नई की टीम में ऋतुराज सबसे युवा खिलाड़ी हैं. वे सिर्फ 24 साल के हैं. धोनी की निगरानी में इस खिलाड़ी ने IPL 2021 में गजब का प्रदर्शन किया है. इन्होंने 15 मैचों में 603 रन बनाए हैं. वे लीग में दूसरे सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं, जिसमें उनका लगाया एक शतक भी शामिल है. वे अपनी सर्वश्रेष्ठ फॉर्म में हैं. चेन्नई को फाइनल में उनसे सधी शुरुआत की उम्मीद होगी. ये आईपीएल 2021 की खोज कहे जा सकते हैं. वे फाइनल में बड़ी पारी खेल सकते हैं.  

रविंद्र जडेजा

जडेजा टीम के लिए उस त्रिशूल की तरह हैं. जो बल्लेबाजी, गेंदबाजी और फील्डिंग में सभी जगह फिट बैठते हैं. रविंद्र जडेजा ने अपने प्रदर्शन से चेन्नई को फाइनल में पहुंचाने में उपयोगी योगदान दिया हैं. जडेजा ने चेन्नई के लिए 15 मैचों में 11 विकेट लिए और 227 उपयोगी रन बनाए. उन्होंने डेथ ओवरों में अपनी तूफानी बल्लेबाजी से अहम मौकों पर अपनी टीम को मुसीबत से निकाला, धोनी को उन से इसी प्रदर्शन की आस होगी. दुबई की स्पिन पिच पर जडेजा टीम की जीत में अहम रोल अदा कर सकते हैं. जडेजा की चपलता मैदान पर देखते ही बनती है.

ड्वेन ब्रावो

अपने ऑलराउंड प्रदर्शन से इस खिलाड़ी ने चेन्नई की टीम और उनके दर्शकों के दिल दिमाग में अपनी एक अलग ही जगह बनाई है. डेथ ओवर में गेंदबाजी हो या बल्लेबाजी ये खिलाड़ी हमेशा ही अपने प्रदर्शन से चकित करता आया है. चेन्नई के लिए फाइनल में ये जीत में सूत्रधार साबित हो सकते हैं. ब्रावो के नाम एक IPL में सबसे ज्यादा विकेट लेने का रिकॉर्ड है.

शार्दुल ठाकुर

पिछले कुछ सालों में ये खिलाड़ी चेन्नई के लिए हनुमान बनकर आया है. जब भी मुश्किल आई आगे आ गया, IPL 2021 में अभी तक ये खिलाड़ी 18 विकेट चटका चुका है. जब भी धोनी को विकेट की दरकार होती है, वो ठाकुर का मोबाइल नंबर घुमा देते हैं. ये टीम को अपनी बल्लेबाजी से भी योगदान देते हैं. ठाकुर विकेट के दोनों तरफ स्विंग करा सकते हैं. अभी हाल ही में इन्हें टीम इंड़िया के 15 सदस्यीय दल में शामिल किया गया हैं.





Source link

Leave a Comment