Chris Gayle Scandal, he got nude in front of a woman without her consent |Chris Gayle पर लगा था महिला के सामने अश्लील हरकत का आरोप, होटल में सामने आया शर्मनाक मामला


नई दिल्ली: वेस्टइंडीज के धुरंधर बल्लेबाज क्रिस गेल बेहतरीन लक्जरी लाइफ जीने के लिए जाने जाते हैं. क्रिस गेल ज्यादातर दुनिया की सभी टी-20 क्रिकेट लीग में खेलते हैं. अक्सर क्रिस गेल अलग-अलग देशों में घूमते रहते हैं. क्रिस गेल और विवादों का गहरा नाता रहा है.  2015 के वर्ल्ड कप के दौरान क्रिस गेल पर गंभीर आरोप लगे थे. क्रिस गेल पर एक मसाज थेरेपिस्ट (मालिश वाली) ने तौलिया खोलकर अपना प्राइवेट पार्ट दिखाने का आरोप लगाया था. इस महिला ने कहा था कि क्रिस गेल ने उनके सामने अपना तौलिया खोलकर अपना प्राइवेट पार्ट दिखाया, जिसके बाद वह बच्चे की तरह रोई थीं.

गेल की शर्मनाक हरकत?

जी न्यूज हालांकि इस खबर की पुष्टि नहीं करता. क्रिस गेल के बारे में ये खबर फेयरफैक्स मीडिया न्यूजपेपर्स, द सिडनी मॉर्निंग हेराल्ड, द एज और द कैनबरा टाइम्स ने दी थी. रिपोर्ट में कहा गया था कि 2015 के वर्ल्ड कप के दौरान वेस्टइंडीज टीम के साथ काम कर ही महिला मसाज थेरेपिस्ट मरायुसे लीने रसेल के सामने ड्रेसिंग रूम में गेल ने जानबूझकर अपना तौलिया खोल दिया था, उस समय गेल के शरीर पर तौलिए के अलावा कुछ भी नहीं था. इस रिपोर्ट्स के मुताबिक गेल ने ऐसा जानबूझकर किया था.

क्रिस गेल ने खोल दिया था तौलिया?

इस महिला ने मामले की सुनवाई के दौरान न्यू साउथ वेल्स सुप्रीम कोर्ट में कहा था कि वह चेजिंग रूम में कुछ खोजने गई थी कि तभी सामने गेल आ गए. गेल ने उनसे पूछा, ‘आप क्या खोज रही हैं?’ तो मैंने कहा, ‘तौलिया.’ इस पर गेल ने अपना तौलिया खींचा और खोल दिया. 

मसाज थेरेपिस्ट ने लगाए गंभीर आरोप 

हेराल्ड के मुताबिक मसाज थेरेपिस्ट ने कहा, ‘मैंने क्रिस गेल के प्राइवेट पार्ट का ऊपरी हिस्सा देखा और माफी मांगते हुए अपनी नजरें हटा लीं. मैंने ना कहा और वहां से चली गई.’ मसाज थेरेपिस्ट ने कहा कि मैंने इस घटना के बारे में तुरंत ही वेस्टइंडीज टीम के फिजियोथेरेपिस्ट को बताया और इसे लेकर मैं बहुत अपसेट थी. 

फूट-फूटकर रोई मसाज थेरेपिस्ट

हेराल्ड के मुताबिक मसाज थेरेपिस्ट ने कहा, ‘मैं फूट-फूटकर रोई, मैं एक बच्चे की तरह रो पड़ी. उन्हें ऐसे व्यवहार के बाद गहरा धक्का लगा था.’ मसाज थेरेपिस्ट ने दूसरी महिलाओं के लिए आवाज उठाई. उन्होंने कहा, ‘ये हमेशा होता है, लेकिन किसी में इसके खिलाफ आवाज उठाने की हिम्मत नहीं होती है, उन्हें आवाज उठानी चाहिए.’

गेल ने ठोका था मानहानि का दावा

हालांकि इन खबरों को क्रिस गेल ने बकवास बताया था. गेल ने फेयरफैक्स मीडिया न्यूजपेपर्स, द सिडनी मॉर्निंग हेराल्ड, द एज और द कैनबरा टाइम्स के खिलाफ मानहानि का दावा ठोका था. गेल ने मामले की सुनवाई में इन आरोपों को निराधार बताते हुए कहा कि मीडिया हाउस उनकी छवि को तहस-नहस कर देना चाहते हैं. उस घटना के वक्त वहां मौजूद रहे गेल के साथी खिलाड़ी ड्वेन स्मिथ ने भी ऐसा कुछ होने से इनकार किया. क्रिस गेल ने बाद में ऑस्ट्रेलिया के मीडिया ग्रुप के खिलाफ तीन लाख डॉलर का मानहानि का मुकदमा जीत लिया.





Source link

Leave a Comment