भारत जीत सकता है इंग्लैंड के खिलाफ ओवल टेस्ट, 5वें दिन अंग्रेजों को सता रहा इस खिलाड़ी का डर


लंदन: भारत द ओवल के मैदान पर खेले जा रहे चौथे टेस्ट मैच में इंग्लैंड के खिलाफ जीत के करीब है. भारत 50 साल बाद इस मैदान पर इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट मैच जीत सकता है. टीम इंडिया अगर इस मैच को जीत लेती है, तो वह सीरीज नहीं हार सकती. ऐसे में भारत और इंग्लैंड के बीच अगला टेस्ट मैच ड्रॉ भी हो गया तो सीरीज पर टीम इंडिया का कब्जा होगा.  

भारत जीत सकता है ओवल टेस्ट

भारत ने इंग्लैंड के खिलाफ द ओवल में खेले जा रहे चौथे टेस्ट मैच के चौथे दिन रविवार को दूसरी पारी में 466 रन बनाकर इंग्लैंड को जीत के लिए 368 रनों का लक्ष्य दिया. इंग्लैंड ने दूसरी पारी में बिना विकेट गवाएं 77 रन बनाए हैं और उन्हें अभी भी जीत के लिए 291 रनों की जरूरत है. सोमवार को इंग्लैंड के लिए ओवल की पांचवें दिन की पिच पर बल्लेबाजी करना आसान नहीं होगा.

अंग्रेजों को सता रहा इस खिलाड़ी का डर

इंग्लैंड के खिलाड़ी ओवल की पांचवें दिन की पिच पर रवींद्र जडेजा की गेंदबाजी को लेकर पहले ही डरे हुए हैं. इंग्लैंड के स्टार ऑलराउंडर मोईन अली ने कहा है कि रवींद्र जडेजा पांचवें दिन खतरनाक साबित होंगे. मोईन अली ने स्काई स्पोर्ट्स से कहा है कि रवींद्र जडेजा इस पांचवें दिन की पिच पर सबसे बड़ा खतरा हैं. यह सपाट विकेट है, लेकिन भारत हमेशा मजबूती से लड़ता है और इंग्लैंड को इससे सावधान रहना होगा. बता दें कि द ओवल के मैदान पर चौथे दिन रवींद्र जडेजा की कई गेंदें टर्न कर रही थीं और पांचवें दिन वह इस पिच पर कहर मचा सकते हैं.

खूब टर्न करेगी जडेजा की गेंद 

भारतीय टीम के बल्लेबाजी कोच विक्रम राठौड़ का मानना है कि रवींद्र जडेजा अंतिम दिन अहम भूमिका निभाएंगे. जडेजा को पहले चार टेस्ट में रविचंद्रन अश्विन की जगह लिया गया है. उन्हें बल्लेबाजी में भी नंबर-5 पर उतारा गया. राठौड़ का कहना है कि अंतिम दिन रवींद्र जडेजा की भूमिका अहम होगी. राठौड़ ने कहा, ‘मुझे लगता है कि अंतिम दिन जडेजा अहम भूमिका निभाएंगे, क्योंकि पांचवें दिन पिच स्पिनरों की मददगार हो सकती है. वह अच्छी गेंदबाजी करते हैं. जडेजा नियंत्रित होकर गेंदबाजी करते हैं, पिछले 5-6 ओवर में उन्होंने काफी मौके बनाए.’

पांचवें दिन भारत के पास इतिहास रचने का मौका 

राठौड़ ने कहा, ‘पांचवें दिन भाग्य ने साथ दिया तो इन मौकों से विकेट मिल सकते हैं. जडेजा इन कारणों की वजह से महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे. उनके अलावा मध्य तेज गेंदबाजों को भी बेहतर करना होगा.’ बल्लेबाजी कोच ने जडेजा को चौथे टेस्ट में अजिंक्य रहाणे और ऋषभ पंत से ऊपर बल्लेबाजी के लिए भेजने का कारण बताया.

पांचवें दिन जडेजा मचाएंगे कहर 

राठौड़ ने कहा, ‘यह योजना बाएं-दाएं संयोजन बनाने के लिए थी. पंत और जडेजा बाएं हाथ से बल्लेबाजी करते हैं और नंबर-6 और नंबर-7 पर साथ होते हैं. हम इन्हें ब्रेक देना चाहते थे. जडेजा ने पिछले मैच में आत्मविश्वास के साथ बल्लेबाजी की और हम देखना चाहते थे कि यह किस तरह मध्यक्रम में हमारे संतुलन पर प्रभाव डालता है. हालांकि, अभी यह नहीं कह सकते कि यह लंबी अवधि का विकल्प है.’

उन्होंने साथ ही रहाणे के लगातार रन नहीं बनाने को लेकर चिंता नहीं जताई. राठौड़ ने कहा, ‘मैंने पहले भी कहा है कि जब आप लंबे समय से क्रिकेट खेल रहे हैं तो आप ऐसे दौर से गुजरते हैं जहां आप रन नहीं बना पाते. यह ऐसा समय है जब हमें उनका समर्थन करना चाहिए. हमने ऐसा चेतेश्वर पुजारा के साथ भी देखा. हमें उम्मीद है कि रहाणे फॉर्म हासिल करेंगे और भारतीय टीम के बल्लेबाजी में अहम भूमिका निभाएंगे.’





Source link

Leave a Comment