तीसरे टेस्ट में जडेजा के खेलने से होगा नुकसान, इस खिलाड़ी का प्लेइंग 11 में होना जरूरी


लंदन: भारत और इंग्लैंड बीच तीसरा टेस्ट मैच 25 अगस्त से लीड्स के मैदान पर खेला जाएगा. पांच मैचों की सीरीज में भारत 1-0 से आगे हैं. लॉर्ड्स में भारत ने इंग्लैंड को 151 रनों से बुरी तरह हराया था. टीम इंडिया अगर अगला टेस्ट मैच भी जीत लेती है तो वह सीरीज में नहीं हार सकती. लॉर्ड्स में टीम इंडिया को अपने सबसे बड़े मैच विनर रविचंद्रन अश्विन की कमी खली. 

जडेजा के खेलने से क्यों होगा नुकसान?

विराट कोहली ने लॉर्ड्स में दूसरे टेस्ट मैच के लिए रविचंद्रन अश्विन की जगह रवींद्र जडेजा को प्लेइंग इलेवन में मौका दिया, लेकिन जडेजा का गेंद और बल्ले दोनों से ही प्रदर्शन काफी घटिया रहा. रवींद्र जडेजा को प्लेइंग इलेवन में शामिल करने का मकसद बुरी तरह फ्लॉप साबित हुआ. इस टेस्ट मैच में रवींद्र जडेजा न तो एक भी विकेट ले पाए और न ही कोई बड़ी पारी खेल पाए. जडेजा की सीधी गेंदों से इंग्लैंड के बल्लेबाजों को कोई दिक्कत नहीं हो रही, उल्टा जडेजा की गेंदों पर रन पड़ रहे हैं. 

अश्विन की बॉलिंग में ज्यादा वैरिएशन

25 अगस्त से लीड्स में होने वाले तीसरे टेस्ट मैच में जडेजा के खेलने से नुकसान हो सकता है, ऐसे में अश्विन प्लेइंग 11 में बेहद जरूरी हैं. अश्विन ने इंग्लैंड के खिलाफ घरेलू टेस्ट सीरीज में जबर्दस्त प्रदर्शन किया था. अश्विन ने गेंद के साथ-साथ बल्ले से भी चेन्नई टेस्ट में शतक जड़ा था. इंग्लैंड के बल्लेबाज अश्विन के सामने कमजोर दिखाई दिए हैं. अश्विन की बॉलिंग में ज्यादा वैरिएशन उन्हें प्लेइंग इलेवन का टिकट दिलाने के लिए काफी है. 

रविचंद्रन अश्विन की कमी खली

लॉर्ड्स टेस्ट मैच में टीम इंडिया को रविचंद्रन अश्विन की कमी खली. एक तरफ जहां इंग्लैंड के ऑफ स्पिनर मोईन अली विकेट चटकाकर भारत के सामने मुश्किलें पैदा कर रहे थे, वहीं दूसरी और रविचंद्रन अश्विन जैसे महान स्पिनर को टीम इंडिया ने प्लेइंग इलेवन में ही शामिल नहीं किया था.

VIDEO

जडेजा को शामिल करना घाटे का सौदा साबित हुआ

रवींद्र जडेजा को प्लेइंग इलेवन में शामिल करना टीम इंडिया के लिए घाटे का सौदा साबित हुआ है. टीम इंडिया में अगर रविचंद्रन अश्विन होते तो इंग्लैंड के बल्लेबाज और भी मुश्किल हालात में होते. ऑस्ट्रेलिया के महान स्पिनर शेन वॉर्न ने लॉर्ड्स टेस्ट में मोईन अली के रविंद्र जडेजा को बोल्ड करने के बाद कहा था, ‘कैसे एक स्पिनर को टीम में होना ही चाहिए और इशारों में कहा कि अश्विन को टीम में होना ही चाहिए.’

शेन वॉर्न ने उठाए थे सवाल 

शेन वॉर्न ने ट्विटर पर लिखा, ‘एक स्पिनर खेल को घुमा सकता है और हैरानी की बात है, इसलिए आप हर बार स्पिनर को मौका देते हैं, भले ही परिस्थितियां कैसी भी क्यों न हों! आप सिर्फ पहली पारी के लिए टीम नहीं चुनते. जीतने के लिए स्पिनर जरूरी है.’





Source link

Leave a Comment