टीम इंडिया के लिए T20 वर्ल्ड कप में हार का कारण बन सकता है ये खिलाड़ी, रहना होगा सावधान


दुबई: T20 World Cup का आगाज 17 अक्टूबर से UAE में हो चुका है. टीम इंडिया के एक खिलाड़ी के प्रदर्शन की पोल टी20 वर्ल्ड कप से ठीक पहले खुल गई है. भारतीय तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार (Bhuvneshwar Kumar) का घटिया प्रदर्शन देखने को मिला है. भुवनेश्वर कुमार (Bhuvneshwar Kumar) को इंग्लैंड के खिलाफ पहले वार्मअप मैच में खेलने का मौका मिला था, लेकिन उन्होंने निराश किया. भुवनेश्वर कुमार की इंग्लैंड के बल्लेबाजों ने जमकर धज्जियां उड़ाई. भुवनेश्वर कुमार (Bhuvneshwar Kumar) इस मैच में लय नहीं पकड़ पाए, उन्होंने 4 ओवर में 54 रन लुटाए. इस दौरान भुवी को एक भी विकेट नहीं मिला. भुवनेश्वर कुमार (Bhuvneshwar Kumar) के इस लचर प्रदर्शन के बाद टीम इंडिया की प्लेइंग इलेवन में वह जगह बनाने के लायक नहीं रहे.  

टीम इंडिया में जगह के हकदार नहीं

भुवनेश्वर कुमार (Bhuvneshwar Kumar) की जगह शार्दुल ठाकुर Playing 11 में मौका पाने के हकदार हैं, जो गेंद और बल्ले दोनों से ही हिट हैं. भुवनेश्वर कुमार का स्लॉग ओवरों में तो बुरा हाल रहा है. भुवनेश्वर कुमार दस रन प्रति ओवर की दर से रन लुटा रहे हैं. भुवनेश्वर कुमार (Bhuvneshwar Kumar) के प्रदर्शन में काफी गिरावट देखने को मिली है. भुवनेश्वर कुमार की गति भी कम हुई है. ऐसे में अगर भुवनेश्वर कुमार को टी20 वर्ल्ड कप के मेन मैचों में मौका मिला, तो वह भारत की हार का कारण बन सकते हैं. 

इंग्लैंड के खिलाफ वॉर्मअप मैच में जब भुवी 17वां और अपना तीसरा ओवर लेकर आए, तो 12 रन दे बैठे, तो आखिरी ओवर में भुवी ने 21 रन खर्च कर डाले. कुल मिलाकर भुवी ने 4 ओवरों में 54 रन खर्च किए. हाल ही में खत्म हुए आईपीएल में भुवनेश्वर के प्रदर्शन के बाद सार्वजनिक रूप से उनके चयन पर बहस हो रही थी और कई विशेषज्ञों ने उन्हें अपनी टीम में नहीं रखा था, लेकिन सेलेक्टरों ने उन पर भरोसा जताया. भुवनेश्वर 11 मैचों में फेंके 42 ओवरों में सिर्फ छह ही विकेट ले सके. उनका इकॉनमी रेट 7.97 का रहा और ये दोनों ही बातें उनके स्तर से बिल्कुल भी मेल नहीं खातीं.

सेलेक्टर्स से हुई चूक

टी20 वर्ल्ड कप में भुवनेश्वर कुमार, मोहम्मद शमी और जसप्रीत बुमराह जैसे तेज गेंदबाजों को चुना गया है. भुवनेश्वर कुमार के प्रदर्शन को देखते हुए उनकी टी20 वर्ल्ड कप की टीम में जगह नहीं बनती. भुवनेश्वर कुमार की गेंदबाजी में न तो कोई रफ्तार है और न ही वह अपनी गेंदबाजी से विरोधी बल्लेबाजों में डर पैदा कर सकते हैं. ऐसे में सेलेक्टर्स ने मोहम्मद सिराज और टी नटराजन जैसे धाकड़ गेंदबाजों को टी20 वर्ल्ड कप की टीम में नहीं चुनकर बड़ी गलती कर दी है.

भुवनेश्वर का खराब फॉर्म भारत के लिए चिंता

भुवनेश्वर कुमार का खराब फॉर्म टीम इंडिया के लिए चिंता का विषय है. अक्टूबर में टी-20 वर्ल्ड कप खेला जाना है, ऐसे में भुवनेश्वर कुमार का खराब प्रदर्शन टीम इंडिया के लिए नुकसानदेह साबित हो सकता है. टीम इंडिया (Team India) को UAE में होने वाले 2021 टी-20 वर्ल्ड कप टूर्नामेंट का प्रबल दावेदार माना जा रहा है.

24 अक्टूबर को भारत और पाकिस्तान आमने-सामने

टी-20 वर्ल्ड कप 2021 में 24 अक्टूबर को भारत और पाकिस्तान आमने-सामने होंगे. बता दें कि भारत और पाकिस्तान को टी-20 वर्ल्ड कप में एक ही ग्रुप में रखा गया है. भारत का टी20 वर्ल्ड कप टूर्नामेंट में पाकिस्तान के खिलाफ जीत का रिकॉर्ड 5-0 का है. भारत और पाकिस्तान के एक ही ग्रुप में होने से दोनों देशों के बीच एक बार फिर रोमांचक मुकाबला देखने को मिलेगा. आखिरी बार 2016 वर्ल्ड कप के मुकाबले में टीम इंडिया ने पाकिस्तान को 6 विकेट से मात दी थी. पाकिस्तान ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 5 विकेट पर 118 रन बनाए थे. जवाब में टीम इंडिया ने 4 विकेट खोकर लक्ष्य हासिल कर लिया था.

भारत के ग्रुप में ये टीमें शामिल

टूर्नामेंट के शुरुआती दौर के लिए टीमों को दो ग्रुप में बांटा गया है. ग्रुप 1 में इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया, वेस्टइंडीज और दक्षिण अफ्रीका को जगह मिली है. वहीं, ग्रुप 2 में भारत पाकिस्तान, न्यूजीलैंड और अफगानिस्तान की टीमें हैं. इसके अलावा दोनों ग्रुप में दो-दो टीमें क्वालिफायर्स के जरिए आएंगी.





Source link

Leave a Comment