एंडरसन का टीम इंडिया के खिलाड़ियों के साथ 36 का आंकड़ा, धोनी को इस बात पर दिलाया था गुस्सा


लंदन: इंग्लैंड के तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन (James Anderson) का टीम इंडिया (Team India) के खिलाड़ियों के साथ 36 का आंकड़ा रहा है. हाल ही में लॉर्ड्स में खेले गए दूसरे टेस्ट मैच के दौरान जेम्स एंडरसन (James Anderson) टीम इंडिया के बॉलर जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah) के साथ भिड़ गए थे. वैसे यह कोई पहला मामला नहीं है, जब एंडरसन ने भारतीय खिलाड़ियों के साथ गलत बर्ताव किया हो, इससे पहले वह टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी और रवींद्र जडेजा के साथ भी बदजुबानी कर चुके हैं.

धोनी-जडेजा से बदजुबानी कर चुके हैं एंडरसन 

साल 2014 में जब टीम इंडिया पांच मैचों की टेस्ट सीरीज खेलने के लिए इंग्लैंड (England) के दौरे पर गई थी तो जेम्स एंडरसन (James Anderson) पहले टेस्ट में रवींद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) और महेंद्र सिंह धोनी से भिड़ गए थे. साल 2014 में खेले गए नॉटिंघम टेस्ट के दूसरे दिन लंच के लिए लौटते वक्त एंडरसन ना सिर्फ जडेजा बल्कि कप्तान धोनी (MS Dhoni) से भी उलझ पड़े थे. 

एंडरसन ने धोनी-जडेजा पर किया था नस्लीय कमेंट

आईसीसी आचार संहिता के लेवल तीन के तहत टीम इंडिया ने एंडरसन पर जडेजा के साथ बदतमीजी करने, धक्का मारने और नस्लीय कमेंट का आरोप जड़ा. इंग्लैंड टीम ने भी जडेजा पर खेल भावना से खिलवाड़ का आरोप लगाया. मैच रेफरी डेविड बून ने लेवल 1 के तहत जडेजा पर जुर्माना लगाते हुए उनकी 50 फीसदी मैच फीस काट ली. इससे कप्तान महेंद्र सिंह धोनी भी गुस्से में आग बबूला हो गए. 

एंडरसन ने जडेजा को धक्का दिया 

टीम इंडिया (Team India) ने इसके खिलाफ अपील करने का फैसला ले लिया. हैरानी की बात ये भी थी कि स्टेडियम में सीसीटीवी लगे होने के बावजूद ईसीबी के पास उस घटना की फुटेज नहीं थी जब ये सारा विवाद हुआ था. भारतीय टीम ने आरोप लगाया था कि ट्रेंटब्रिज में एंडरसन (James Anderson) ने खेल के दूसरे दिन लंच पर जाते समय पहले विवाद शुरू किया और जडेजा (Ravindra Jadeja) को धक्का भी दिया. आईसीसी (ICC) ने गॉर्डन लुइस को ज्यूडिशियल कमिश्नर नियुक्त किया. ज्यूडिशियल कमिश्नर ने सुनवाई के बाद एंडरसन और जडेजा को क्लीन चिट दी और कहा कि जडेजा की फीस भी नहीं काटी जाएगी. 

धोनी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में निकाला गुस्सा 

इस विवाद को लेकर धोनी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा था कि पता नहीं मैच रेफरी ने क्या देखकर जडेजा पर जुर्माना लगाया था. हम सही थे, एंडरसन ने लक्ष्मण रेखा लांघी थी. रही बात जज की तो उन्हें सबूत चाहिए होता है. मैं उस मसले पर नहीं बोलूंगा. मैंने वही किया जो किया जाना चाहिए था. अगर मेरी टीम का भी कोई खिलाड़ी लक्ष्मण रेखा लांघे तो मैं उसका साथ नहीं देता. बात सिर्फ गाली की नहीं थी. धक्का दिया गया था.





Source link

Leave a Comment