इशांत शर्मा करियर के इस मोड़ पर बिलख-बिलख कर रोए, बन गए थे मैच के मुजरिम


नई दिल्ली: ऑस्ट्रेलियाई टीम साल 2013 में भारत के दौरे पर आई थी. इशांत शर्मा तब वनडे टीम का हिस्सा थे. तीसरा वनडे मोहाली में खेला गया था. भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 303 रन बनाए थे. जबाव में ऑस्ट्रेलियाई टीम मैच हारने की कगार पर थी. 46 ओवर पूरे होने के बाद, ऑस्ट्रेलिया को 18 गेंदों में 44 रन की दरकार थी. 

इशांत शर्मा की हुई थी दनादन धुनाई 

47वां ओवर लेकर इशांत शर्मा आए. उनके सामने थे जेम्स फॉकनर. फॉकनर ने इशांत शर्मा को निशाना बनाते हुए उनकी गेंदबाजी की धज्जियां उड़ा दी. फॉकनर ने इशांत शर्मा के 47वें ओवर में 4,6,6,2,6,6 जड़ते हुए कुल 30 रन बटोरे थे. अब ऑस्ट्रेलिया को 12 गेंदों में 14 रन की जरूरत थी. ऑस्ट्रेलिया ने चार विकेट से यह मैच जीत लिया.

इशांत शर्मा बन गए थे मैच के मुजरिम

मैच के बाद भारतीय प्रशंसकों ने इशांत शर्मा को जमकर ट्रोल किया था. उन्हें ‘मैच का मुजरिम’ करार दिया गया, लेकिन इशांत शर्मा के दिल पर इस हार के बाद क्या गुजरी, इसका खुलासा खुद इशांत शर्मा की पत्नी ने किया था. इशांत शर्मा अपने करियर के इस मौके पर इमोशन को कंट्रोल नहीं कर पाए और बिलख-बिलख कर रोने लगे.

बिलख-बिलख कर रोए थे इशांत शर्मा

इशांत शर्मा की पत्नी प्रतिमा सिंह ने एक इंटरव्यू के दौरान कहा था, ‘इशांत वैसे तो चुपचाप रहते हैं और अपनी बातें ज्यादा किसी से नहीं बताते, लेकिन 2013 में मोहाली में भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच हुए मैच के बाद वह मुझे फोन करके बहुत रोए थे. हम लोग उस समय डेट कर रहे थे.’ इशांत शर्मा की पत्नी ने आगे कहा, ‘जेम्स फॉकनर ने उनके एक ओवर में 30 रन मारे थे. उसके बाद वह पहली बार फोन पर बहुत रोए थे. जब मैच में ज्यादा पिटाई हो जाती है तो वो निराश हो जाते हैं. मैं उनसे बस यही कहती हूं कि जब तक जिंदगी है तब तक खेल है और तब तक यही चलता रहेगा.’

क्रिकेट को इतना सिर पर मत चढ़ाओ

प्रतिमा सिंह ने कहा, ‘उस वक्त मैंने उनसे यही कहा था कि क्रिकेट को इतना सिर पर मत चढ़ाओ. यह बहुत बड़ी चीज है, लेकिन सिर्फ एक खेल ही है. जिस दिन आप ऐसा सोच लेंगे उस दिन इन चीजों से उबरने में आसानी होगी.’ बता दें कि 9 दिसंबर 2016 को इशांत ने वाराणसी में जन्मी बास्केटबॉल खिलाड़ी प्रतिमा सिंह से शादी की थी.





Source link

Leave a Comment