इन 3 खिलाड़ियों को मौका देकर भारत जीत सकता है चौथा टेस्ट! इंग्लैंड की हार होगी तय


नई दिल्ली: भारत और इंग्लैंड (India vs England) के बीच आज दोपहर 3:30 बजे से लंदन के ओवल मैदान पर चौथा टेस्ट मैच खेला जाएगा. 5 मैचों की इस टेस्ट सीरीज में पहला मैच ड्रॉ होने के बाद भारत और इंग्लैंड ने 1-1 मैच जीत लिये हैं. फिलहाल सीरीज 1-1 से बराबर है. भारत को अगर टेस्ट सीरीज जीतनी है, तो ये मैच ‘करो या मरो’ का होगा. चौथे टेस्ट मैच में अगर भारत को जीतना है, तो उसे 3 खिलाड़ियों को प्लेइंग इलेवन में शामिल करना होगा, ये 3 खिलाड़ी भारत की जीत की गारंटी होंगे.

आर अश्विन 

रविचंद्रन अश्विन को इंग्लैंड के खिलाफ चौथे टेस्ट मैच में अगर प्लेइंग इलेवन में मौका मिला तो वह भारत के लिए मैच विनर साबित हो सकते हैं. अश्विन इंग्लैंड की हार तय कर देंगे. इंग्लैंड के खिलाफ पहले तीन टेस्ट मैचों में टीम इंडिया को अपने सबसे बड़े मैच विनर रविचंद्रन अश्विन की कमी खली. विराट कोहली ने रविचंद्रन अश्विन की जगह तीन टेस्ट मैचों में रवींद्र जडेजा को प्लेइंग इलेवन में मौका दिया, लेकिन जडेजा का गेंद और बल्ले दोनों से ही प्रदर्शन काफी घटिया रहा. रवींद्र जडेजा को प्लेइंग इलेवन में शामिल करने का मकसद बुरी तरह फ्लॉप साबित हुआ. जडेजा की सीधी गेंदों से इंग्लैंड के बल्लेबाजों को कोई दिक्कत नहीं हो रही, उल्टा जडेजा की गेंदों पर रन पड़ रहे हैं. एक तरफ जहां इंग्लैंड के ऑफ स्पिनर मोईन अली विकेट चटकाकर भारत के सामने मुश्किलें पैदा कर रहे थे, वहीं दूसरी और रविचंद्रन अश्विन जैसे महान स्पिनर को टीम इंडिया ने प्लेइंग इलेवन में ही शामिल नहीं किया. रवींद्र जडेजा को प्लेइंग इलेवन में शामिल करना टीम इंडिया के लिए घाटे का सौदा साबित हुआ है. टीम इंडिया में अगर रविचंद्रन अश्विन होते तो इंग्लैंड के बल्लेबाज नहीं टिक पाते. चौथे टेस्ट मैच में विराट कोहली प्लेइंग इलेवन में रवींद्र जडेजा की जगह अश्विन को मौका दे सकते हैं. 

शार्दुल ठाकुर

इंग्लैंड के खिलाफ लीड्स में खेले गए तीसरे टेस्ट मैच में टीम इंडिया को पारी और 76 रनों से शर्मनाक हार मिली. इस मैच में इशांत शर्मा टीम इंडिया के लिए सबसे बड़े विलेन साबित हुए. इशांत शर्मा ने तीसरे टेस्ट मैच में जमकर रन लुटाए और उन्हें एक भी विकेट नहीं मिला. चौथे टेस्ट के लिए विराट कोहली इशांत शर्मा को बाहर बैठाकर शार्दुल ठाकुर को मौका दे सकते हैं. इंग्लैंड के बल्लेबाजों ने इशांत शर्मा की बॉलिंग की जमकर धज्जियां उड़ाईं थीं. ऐसा लग रहा था जैसे तीसरे टेस्ट मैच में इंग्लैंड के बल्लेबाजों पर इशांत की गेंदों का कोई असर ही नहीं हो रहा है. शार्दुल एक बेहतरीन तेज गेंदबाज होने के साथ-साथ निचले क्रम में बल्लेबाजी भी ठीक-ठाक कर लेते हैं. शार्दुल को दूसरे टेस्ट में इसलिए टीम से बाहर कर दिया गया था, क्योंकि वो चोटिल हो गए थे. शार्दुल ठाकुर गेंद और बल्ले दोनों से ही शानदार प्रदर्शन के लिए जाने जाते हैं. 

हनुमा विहारी  

हनुमा विहारी के रिकॉर्ड देखें तो उन्हें नंबर 5 पर अजिंक्य रहाणे की जगह पर प्रबल दावेदार माना जा रहा है. टीम इंडिया के भरोसेमंद बल्लेबाज हनुमा विहारी अक्सर टीम की प्लेइंग इलेवन से अंदर-बाहर होते रहते हैं. टीम इंडिया अजिंक्य रहाणे की जगह हनुमा विहारी को नंबर 5 पर मौका दे सकती है. 27 साल के हनुमा विहारी ने 12 टेस्ट मैचों में 32.84 की औसत से 624 रन बनाए हैं. टेस्ट स्पेशलिस्ट अजिंक्य रहाणे के बल्ले से रनों का सूखा खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है. बता दें कि इंग्लैंड के खिलाफ मौजूदा टेस्ट सीरीज में अजिंक्य रहाणे का प्रदर्शन काफी खराब रहा है. रहाणे ने तीसरे टेस्ट मैच में भी दोनों पारियों में मिलाकर कुल 28 रन बनाये. लगातार फ्लॉप हो रहे रहाणे के लिए कई दिग्गज इनको बाहर बैठाने की चर्चा कर रहे हैं. रहाणे ने भारत के लिए आखिरी शतक पिछले साल ऑस्ट्रेलिया दौरे पर मेलबर्न टेस्ट में लगाया था और उसके बाद से वह लगातार रन बनाने के लिए संघर्ष कर रहे हैं. हालांकि इंग्लैंड के खिलाफ इस सीरीज में लॉर्ड्स टेस्ट मैच में उन्होंने 61 रनों की पारी जरूर खेली थी, लेकिन अगले ही टेस्ट में वो फिर से फिसड्डी साबित हुए. इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन ने अजिंक्य रहाणे को टीम इंडिया पर बोझ बताया है.





Source link

Leave a Comment